National News Video

वीडियो-शहीद के घर में योगी ने किया VVIP तमाशा

Written by Nazia

एक बार फिर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का सियासी तमाशा सामने आया है। योगी आदित्यनाथ अपने गृहनगर गोरखपुर में एक शहीद के घर पहुंचे थे जहां प्रशासन ने पहले से सोफा-कूलर मंगा रखे थे। यही नहीं सीएम साहब के आगमन के लिए जमीन पर लाल रंग की कालीन भी बिछाई गई थी। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार, सीएम योगी अपने गोरखपुर दौरे में श्रीनगर में शहीद हुए सीआरपीएफ के एक सब इंस्पेक्टर साहब शुक्ला के घर पहुंचे थे।

सीएम योगी ने परिवार को 6 लाख का चेक भी सौंपा। लेकिन सीएम के दौरे को लेकर प्रशासन की तैयारियों पर विवाद खड़ा हो गया। बता दें कि सीएम योगी के गृहनगर गोरखपुर के बेलीपार थानाक्षेत्र के मंझगांवा के रहने वाले 50 वर्षीय साहब शुक्ला 24 जून को श्रीनगर के पंथा चौक में हुए आतंकी हमले में शहीद हो गए थे। वह 16 जून को अपने दूसरे बेटे की शादी के बाद वापस ड्यूटी पर लौटे थे।

 

साहब शुक्ला अपने माता-पिता की इकलौती संतान थे। वह 1885 में सीआरपीएफ में भर्ती हुए थे। उनके परिवार में पत्नी शुभा शुक्ला के अलावा चार बेटे और दो बहुओं का परिवार है। सीएम योगी शोकाकुल परिवार को सांत्वना देने गए थे। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले यूपी के देवरिया में योगी सरकार का ऐसा ही एक और मामला सामने आया था।

जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक शहीद प्रेमसागर के परिजनों से मिलने देवरिया के टिकमपार गांव पहुंचे थे। मुख्यमंत्री के दौरे के 24 घंटे पहले प्रशासन ने शहीद के घर को हाइटेक बना दिया था। जिस कमरे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ परिजनों से मिलने वाले थे उसमें जैसे-तैसे जुगाड़ करवाकर एसी लगवा दी गई।

अधिकारियों ने शहीद के घर में रातों-रात सोफा-कालीन लगा दिया था। इतना ही नहीं घर के तौलिए तक बदल दिए गए थे। रात में ही मजदूरों को लगा कर घर के अंदर पेंट भी कर दिया गया था। गांव की सड़कें भी रातों-रात चमक गईं। इसके अलावा नालियों को भी साफ किया गया। लेकिन सीएम के जाते ही घर में लगाया गया एसी, सोफा, कालीन सब अधि‍कारियों के निर्देश पर हटा दिया गया था। सिर्फ घर की दीवारों पर लगा पेंट ही बचा था।

WTF!

Posted by Unofficial: Subramanian Swamy on 11 જુલાઈ 2017

आपको बता दें कि सहारनपुर की जातीय हिंसा के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ दलितों को साधने में जुटे नजर आए थे। इसके लिए उन्होंने बाबा साहब की प्रतिमा का माल्यार्पण कर दलितों के साथ सहभोज भी किया था। सीएम योगी सबसे ज्यादा चर्चाओं में उस वक्त आए थे जब उन्होंने एक दलित बस्ती में जाने से पहले साबुन और शैंपू भिजवाया ताकि दलित उनसे नहा धोकर मिलें। इस मामले के बाद काफी विवाद हुआ था और गुजरात के दलितों ने योगी को 125 किलो का बुद्धा साबुन भेंट करने का निर्णय लिया।

Loading...

About the author

Nazia

Leave a Comment