News Political

पत्रकार ने योगी से पूंछा ऐसा सवाल कि योगी दुम दबाकर भाग गये, देखें पूरा मामला

Written by Nazia

यूपी के इलाहबाद में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले तो खुद की तारीफ करते रहे, लेकिन जब पत्रकारों ने सवाल पूछने शुरू किए तो महान योगी जी वहां से भाग निकले। 100 दिन पूरे होने पर सीएम योगी ने बीते दिन प्रेस कॉन्फेंस कर अपनी सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश किया। इस रिपोर्ट कार्ड के जरिए योगी ने सरकार की उपलब्धियां गिनवाईं और आगे के लिए रोडमैप भी बताया। इस दौरान योगी ने ‘100 दिन विश्वास के’ नाम की एक बुकलेट भी जारी किया।

योगी सरकार की ओर से बुलाई गई इस प्रेस कॉन्फेंस में सबसे दिलचस्प बात देखने को जो मिली वो यह कि योगी भी पीएम मोदी के नक्शे-कदम पर चलते दिखे। दरअसल मीडिया योगी से कई सवालों का जवाब चाहती थी। वो ऐसे सवाल थे जो हर पत्रकार इस सौ दिनों के दौरान योगी सरकार से पूछने के लिए बेताब था। सीएम योगी आए.. लाइट कैमरा ऑन हुआ.. योगी ने बोलना शुरू किया.. अपनी सरकार की 100 दिनों की उपलब्धियां गिनवाईं.. और आखिर में धन्यवाद बोल कर निकल लिए।

प्रेस कान्फ्रेंस के बाद सवाल-जवाब का इंतजार कर रही मीडिया हाथ पे हाथ ढरे बैठी रह गई। लाजमी है, पत्रकारों के मन में ऐसे कई सवाल चल रहे होंगे जिसे पूछने के लिए वो इसी इंतजार में बैठे थे कि कब कान्फ्रेंस खत्म हो और वो सवाल पूछें। क्योंकि सवाल करना न सिर्फ पत्रकार का पेशा है बल्कि सवाल करना एक पत्रकार का लोकतांत्रिक अधिकार है।

कानून व्यवस्था, एंटी रोमियो दल, अवैध बूचड़खाने, सहारनपुर जातीय हिंसा, सहारनपुर दंगा, गड्ढा मुक्त सड़कें जैसे सवाल पत्रकारों के जेहन में कौंद रहे होंगे। इस दौरान योगी से एक सवाल हुआ भी जो मीडिया से मंझोले और छोटे अखबारों को बंद किए जाने से जुड़ा था। जिसका गोलमोल जवाब देते हुए योगी अपनी कुर्सी से खड़े हो गए।

पत्रकार जब तक कुछ समझ पाते तब तक योगी मंच छोड़कर निकल लिए। बहरहाल योगी भी मोदी की ही तरह हमेशा मीडिया से केवल अपनी बात ही करते हैं। आमतौर पर सीएम योगी और पीएम मोदी दोनों ही मीडिया का कोई सवाल नहीं लेते।

Loading...

About the author

Nazia

Leave a Comment