National News Political Video

वीडियो-अबू आज़मी ने ‘वन्दे मातरम’ को लेकर ऐसा जवाब दिया कि सदन में बैठे बीजेपी विधायकों का सीना छलनी हो गया !

Written by Alina Sheikh

इन दिनों देश में गौरक्षा और वन्दे मातरम को लेकर काफी बवाल मचा हुआ है और ऐसा अब ज्यादा हो जाता है जब देश में साप्रदायिक ताकतों का मनोबल बढ़ जाता है. निःसंदेह मोदी सरकार देश के विकास की बात करती हो लेकिन देश के अंदर जो ज़हरीला सच है वो जिसे जानने के बाद हर भारतीय का सर शर्म से झुक जायेगा. जरा आप सोचिये कि कैसे गोरक्षा के नाम पर लोगों की जान दिन दहाड़े ले ली जाती है, कैसे वन्दे मातरम न गाने पर लोगों देशद्रोही कह दिया जाता है. आखिर अगर देश विकास कर भी गया और देश में ऐसी ही साप्रदायिकता रही तो ऐसे विकास का क्या फायदा जिसमें लोगों की हत्या हो रही हो.

 

अभी कुछ दिन पहले महाराष्ट्र विधानसभा से एक खबर फैली जिसने देशभर में तूफान ला दिया था. बीजेपी के एक विधायक ने ओवैसी की पार्टी के विधायक वारिस पठान को वन्दे मातरम गाने के लिए मजबूर कर रहे थे जिसके जवाब में वारिस पठान ने कहा कि वो वन्दे मातरम नही गायेंगे लेकिन हिंदुस्तान जिंदाबाद जरूर कहेंगे और देश के लिए मरने के लिए भी तैयार हैं. वारिस पठान के इस बयान पर बीजेपी विधायक ने उन्हें पाकिस्तान जाने की सलाह देने लगे.

क्या देश में जो वन्दे मातरम नही गायेगा उसे पाकिस्तान जाना होगा, आखिर ये कैसा लोकतंत्र है कि जो वन्दे मातरम गए वो सच्चा देशभक्त और जो न गए वो देशद्रोही? क्या इस देश को आजाद कराने के लिए सिर्फ एक कौम का लहू बहा था, क्या सिर्फ एक धर्म के लोगों ने ही अपनी जान की बाजी लगाकर इस देश को आज़ादी दिलवाई थी ? दरअसल इनके हौसले इसलिए भी बढ़ गये हैं क्योंकि ऐसे लोगों का सही से उपचार नही हो रहा है और केंद्र सरकार ऐसे लोगों के नाम पर चुप्पी साध लेती है.

वीडियो

वारिस पठान मामले पर महाराष्ट्र विधानसभा में समाजवादी पार्टी के विधायक अबू आज़मी ने मुद्दा उठाया तो तमाम बीजेपी विधायकों को मिर्ची लग गयी और विधानसभा में हंगामा करने लगे. आपको बता दें कि अबू आज़मी ने बड़ी हिम्मत के साथ इस मुद्दे पर अपनी बात रखी और कहा कि “बंद कमरे में वन्दे मातरम कहना बड़ा आसान होता है चलो बाहर निकलो और देश के लिए साथ मिलकर लड़ते हैं और कुर्ब्ने देते हैं.”

अबू आज़मी ने कहा कि मैं हजार बार नारा लगा सकता हूँ लेकिन ये लोग सिर्फ राजनीति करते हैं और इसलिए सिर्फ राजनीतिक फायदे के लिए मैं वन्दे मातरम नही कहूँगा खास कर उनके लिए जो देशभक्ति बंद कमरे में करते हों.

Loading...

About the author

Alina Sheikh

Leave a Comment