National News Political

सजा से बचने के लिए जब राम रहीम ने खुद को बताया नपुंसक तो देखिये जज ने दिया ऐसा जवाब कि सारी हेकड़ी निकल गयी !

Written by Alina Sheikh

राम रहीम रेप के मामले में आज सलाखों के पीछे जरूर है लेकिन जब सीबीआई जज जगदीप सिंह 25 अगस्त को उसे दोषी करार दे रहे थे तब उसने अपने बचाव में खुद नपुंसक कहा था. उनसे कहा था कि वो नपुंसक है और ऐसे में वो किसी का रेप कैसे कर सकता है. इतना ही नही खुद बचाने के चक्कर में राम रहीम इस हद तक गिर गया था कि वो अपनी मानसिक हालत के बारे में कह रहा था कि उसकी मानसिक अवस्था ठीक नही थी और ऐसे में किसी के साथ शारीरिक संबंध बनाना तो दूर वो सोच भी नही सकता था. बता दें कि जब उसने जज के सामने नपुंसक होने की बात कही तो जज जगदीप सिंह उसे जमकर लताड़ लगाई और ऐसा जवाब दिया कि वो खामोश हो गया.

बता दें कि ETV के मुताबिक राम रहीम ने अपने बचाव में कहा कि वो 1990 से ही नपुंसक है और ऐसे में किसी का रेप करना नामुमकिन है. बता दें कि राम रहीम पर आरोप है कि उसने 1999 में दो साध्वियों का रेप किया है, जिसमें उसे दोषी पाया गया है और 10-10 साल की सजा काट रहा है. जब राम रहीम ने अपने नपुंसक होने की बात जज के सामने कही तो जज ने उसे फटकार लगाते हुए कहा कि अगर तुम नपुंसक हो तो तुम्हारी दो बेटियां कैसे हैं ?

जज के इतना कहते ही राम रहीम को सांप सूंघ गया और खामोश हो गया.  राम रहीम के इस दावे के बाद जज ने कहा कि ‘राम रहीम के गवाह ने बताया था कि उसकी दो बेटियां भी हैं’ इतना ही नही डेरा हॉस्टल की दो वॉर्डन ने भी राम रहीम की बेटियों के बारे में बताया था कि उसकी की दो बेटियां 1999 से इस हॉस्टल में रह रही थीं, इसलिए सीबीआई जज ने राम रहीम के नपुंसक होने वाले दावे को दरकिनार कर दिया था.

Loading...

About the author

Alina Sheikh

Leave a Comment