National News Political

असम की महिलाओं ने कुछ इस तरह जड़ा बीजेपी को तमाचा…

Written by Kumar

असम में तीन महिलाओं ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन के लिए अपने सिर मुंडवा लिए। महिलाओं ने बिना कोई शब्द कहे प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। महिलाओं का मानना है कि सिर मुंडवाना शक्तिशाली संदेश है। गुवाहाटी में करीब 100 महिलाएं प्रदर्शन कर रही है। जिस जगह ये महिलाएं प्रदर्शन कर रही थी वहीं पर तीन महिलाओं ने अपने लंबे बाल साफ करवा लिए। इसे सड़क पर चलने वाले सैंकड़ों राहगीर हैरान रह गए। पूर्वोत्तर राज्य में महिलाओं के बाल उनका प्राइड और रिविर्ड(परम पूजनीय) है। मौसमी नाम की एक महिला ने कहा, सिर मुंडवा कर हम यह बताना चाहती हैं कि यहां सरकार मरी हुई है और हमारा कोई निगहबान नहीं है। सिर मुंडवाने वाली सभी महिलाएं स्वाधीन नारी शक्ति की सदस्य हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश में सत्तारुढ़ भाजपा सरकार वादाखिलाफी कर रही है। प्रदर्शन करने वाली तीन महिलाओं ने अपने सिर मुंडवा लिए हैं। महिलाओं की शिकायत है कि पिछले साल विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा ने असम के इंडिजनस समुदायों के अधिकारों, जमीन और हितों के संरक्षण का वादा किया था। गौरतलब है कि पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा पहली बार असम में सत्ता में आई थी। प्रदर्शनकारी महिलाओं का कहना है कि उन्हें पहले प्रदर्शन के पारंपरिक तरीके अपनाए लेकिन वे सर्वानंद सोनोवाल सरकार का ध्यान आकर्षित करने में विफल रही।

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार स्थानीय लोगों की बजाय बाहरी लोगों को नौकरियां दे रही है। साथ ही सरकार उत्सवों पर पैसा बहा रही है। महिलाओं ने आरोप लगाया कि सरकार राज्य को प्रोटेक्ट करने के लिए कुछ नहीं किया है। बाढ़ के दौरान भी लोगों के लिए कुछ नहीं किया। एक प्रदर्शनकारी महिला ने कहा, हमारा मुख्यमंत्री दिल्ली में आलाकमान को खुश करने में व्यस्त है। मुख्यमंत्री के पास उन मसलों के लिए कोई वक्त नहीं है जो जमीनी स्तर पर लोगों को प्रभावित कर रहे हैं। हमें उम्मीद है कि हमारे प्रदर्शन से कम से कम सरकार की आत्मा जागेगी।

Loading...

About the author

Kumar

Leave a Comment