National News Political

शेख हसीना ने रोहिंग्या मुसलमानों के लिए जो किया उससे पीएम मोदी को सीखना चाहिए !

Written by Alina Sheikh

रोहिंग्या मुसलमानों के ऊपर म्यांमार में खूब जमकर हिंसा हो रही है उनके घरों को जला दिया जा रहा है, उनकी बहन बेटियों को सबके सामने जलील किया जा रहा है. अपनी जान बचाने के लिए वो जहां भी शरण मिल रही है वहां जा रहे हैं. करीब 40 हजार मुसलमान भारत में शरण लेने आये हैं लेकिन भारत सरकार कुछ खास वर्ग के लोगों को खुश करने के लिए उन्हें देश से निकालना चाहती है. वैसे अगर आप भारत का इतिहास देखेंगे तो समझेंगे कि इस देश ने कभी किसी के प्रति गलत नजर नही रखी और जो भी आया उसको अपने यहां शरण दिया है लेकिन मोदी सरकार द्वारा भारतीय संस्कृति से अलग हटकर फैसला लेने की बात सामने आ रही है.

आपको बता दें कि गृह मंत्रालय ने रोहिंग्या मुसलमानों पर निर्देश जारी किया है कि ‘रोहिंग्या मुसलमान देश में जहां भी हों उन्हें चिन्हित करके देश से बाहर निकालने की कवायद शुरू हो.’ इसके बाद कुछ राजनीतिक दलों ने मोदी सरकार के इस कदम की आलोचना भी की है. बता दें कि रोहिंग्या मुसलमानों की जहन्नुम भरी जिंदगी को देखते हुए भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश ने दिल खोलकर सराहनीय कदम उठाया है.

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने उन कैम्पों का दौरा किया जहां म्यांमार से आये हुए रोहिंग्या मुसलमान शरण लिए हुए हैं. उनकी हालत को देखते हुए उन्होंने कहा कि ‘जिस तरीके से देश में 16 करोड़ मुसलमान रह रहे हैं और उनकी जरूरतें पूरी हो रही हैं वैसे ही 7 लाख रोहिंग्या मुसलमानों को भी खाना खिला सकती है.’ इस बयान के बाद शेख हसीना की वैश्विक स्तर पर काफी तारीफ हो रही है.

Loading...

About the author

Alina Sheikh

Leave a Comment