National News Political

मोदी सरकार में सहयोगी इस पार्टी ने दिखाए तेवर करने जा रही है कुछ ऐसा कि सरकार को लगेगा झटका !

Written by Alina Sheikh

मोदी सरकार में बयानबाजी चालू है और महंगाई अपने उच्च स्तर पर है. इसे लगाम लगाने वाले वाला कोई नही बल्कि इसके उलट मोदी सरकार के नये मंत्री अलफोंस कहते हैं कि जिनके पास पैसा है वहीं गाड़ी चलाते हैं और वो ही पेट्रोल डीजल ले रहे हैं कोई भूखा थोड़ी न मर रहा है, वो तो टैक्स दे ही सकते हैं. इस तरह की बयानबाजी के चलते गरीबों के पास कोई चारा नही बचता कि वो इस महंगाई से कैसे लड़ें. बता दें कि पेट्रोल और डीजल के साथ साथ और भी कई चीजों के दाम आसमान पर हैं और इसके कम होने के आसार नजर नही आ रहे. इसी को देखते हुए NDA की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने बीजेपी को झटका देने का मूड बना लिया है.

बता दें कि शिवसेना की तरफ से धमकी भरे लहजे में कहा गया है कि ‘वो लगातार बढ़ रही मंहगाई को देखते हुए विचार करने जा रही है कि इस सरकार का साथ दे या नही. वो सोच सकती है कि इस सरकार में सहयोगी पार्टी के तौर पर रहे या नही.’ शिवसेना ने कहा कि ‘सरकार में रहना है या नही, इस विचार होगा और महाराष्ट्र में इस महंगाई को लेकर एक बड़ा आन्दोलन भी करेगी.’

बता दें कि शिवसेना ने अगर सरकार से अपना सहयोगी ले लिया तो केंद्र सरकार को कुछ खास नुकसान तो नही होगा लेकिन महाराष्ट्र में देवेन्द्र की सरकार को झटका जरूर लगेगा और हो सकता है कि किसी पार्टी की मदद न मिलने से वहां सरकार भी गिर जाये. बता दें कि शिवसेना के मुखपत्र सामना में लिखा है कि ”कांग्रेस के शासन में जब ईंधन के दाम बढ़ रहे थे तब राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी और सुषमा स्वराज, जो अब मंत्री हैं, विरोध के लिये सड़कों पर बैठ गये थे.”

Loading...

About the author

Alina Sheikh

Leave a Comment