National News Political

रयान स्कूल 10 दिन बाद खुला ही था कि लग गया एक और झटका !

Written by Alina Sheikh

प्रद्युम्न ठाकुर जोकि रयान इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ता था, उसकी हत्या कर दी गयी और आनन फानन में स्कूल बस कंडक्टर को हिरासत में ले लिया गया है. पुलिस का आरोप है कि कंडक्टर ने ही बच्चे को मारा है लेकिन आरोपी के घर वालों और उसके वकील का कहना है कि पुलिस ने दबाव बनाकर ऐसा बयान दिलवाया है. फ़िलहाल इस घटना के 10 दिन बाद जब स्कूल दोबारा खुला तो रयान स्कूल को फिर से बड़ा झटका लग गया. ये जगजाहिर हो चुका है कि रयान इंटरनेशनल स्कूल बीजेपी के करीबी शख्स का है.

जैसे ही रयान स्कूल दोबारा खुला प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर ने आरोप लगाया है कि इस मामले सीबीआई जाँच की सिफारिश हुई है और ऐसे में स्कूल खुलने से जितने भी सबूत हैं वो मिटाए जा सकते हैं, ऐसे में स्कूल खोलना कहां तक सही है. वैसे आपको बता दें कि प्रद्युम्न की हत्या के बाद खून के निशान धोये गये थे, ऐसे में स्कूल खोलना मामले की जाँच को लेकर सुरक्षित नही है. इस मामले में अभी भी पुलिस को कोई ठोस सबूत नही मिला है.

आपको बता दें कि इस तरह के संदिग्ध हालातों को देखते हुए स्कूल को (जोकि अभी 3 महीने के लिए सरकार के हाथों में है) 25 सितम्बर तक के लिए फिर से बंद कर दिया गया है. वैसे स्कूल खुला जरूर था लेकिन बच्चे और उनके अभिभावक अपने बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंतित दिखाई दिए.

Loading...

About the author

Alina Sheikh

Leave a Comment