National News

सरकार ने फिर एक बार जनता के लिए खड़ी करी मुसीबत, जानिए पूरा मामला

Written by James Edition

एसबीआई की सभी 5 सहयोगी बैंकों और महिला बैंकों के विलय होने के बाद अब इन बैंकों के चैक स्वीकार नहीं किए जाएंगे. 30 सितंबर से इन 6 बैकों के चैक और आईएफएस कोड अमान्य हो जाएंगो. इस लिए एसबीआई ने ग्राहकों से कहा है कि नई चेक बुक के लिए इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, एटीएम या फिर शाखा में जाकर तुरंत आवेदन करें.बता दें एसबीआई की सभी सब्सिडियरी- स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ त्रवणकोर और भारतीय महिला बैंक का पहली अप्रैल 2017 में विलय हो गया है.

Image result for notebandi bank

इस विलय के बाद एसबीआई का एसेट बेस बढ़कर 37 लाख करोड़ रुपये हो गया है. वहीं अब एसबीआई एक विश्व स्तर का बैंक बन गया है, जिसके पास 22,500 शाखाएं और 58,000 एटीएम का विशाल नेटवर्क है.

Related image

एसबीआई की सभी 5 सहयोगी बैंकों और महिला बैंकों के विलय होने के बाद अब इन बैंकों के चैक स्वीकार नहीं किए जाएंगे.स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ त्रवणकोर और भारतीय महिला बैंक का पहली अप्रैल 2017 में विलय हो गया है.

 

Loading...

About the author

James Edition

Leave a Comment