News

अयोध्या के मंदिर में पांच साधुओं ने किया एक साल तक माँ-बेटी के साथ गैंगरेप

Written by admin

अयोध्या का नाम सुनते ही भगवान् श्री राम का नाम याद लेकिन राम की नगरी में है अयोध्या मंदिर में पांच साधुओं ने मिलकर मां और उसकी बेटी के साथ गैंगरेप करने का मामला सामने आया है. वंहा के थाने के अधिकारी और बरिष्ट पुलिस अधिकारियों ने धार्मिक दबाब के कारन मामले में कोई सुनवाई नहीं की तो उन पीड़िताओं माँ बेटी ने अदालत में इन्साफ की फरियाद की और इतना सब होने के बाद भी पुलिस के कानो पर जूएं तक नहीं रेंग रहे है. लेकिन अब कोर्ट ने पांच साधुओं और गैंगरेप में सहयोग करने वाली एक दासी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर विवेचना करने का आदेश दिया फिर अयोध्या कोतवाल इस काम किसी वजह से लेटलतीफी कर रहे है.

और यह आदेश CJM राजेश पाराशर की कोर्ट से हुआ है. गैंगरेप पीड़िता मां ने बताया है कि अयोध्या कोतवाली क्षेत्र के एक मंदिर है जिसमें वह अपनी बेटी के साथ रहती है और मंदिर में ही रहने वाले कुछ लोगों ने एक साल पहले और तब से अब क उसके साथ गैंगरेप किया. इसका विरोध करने पर उसकी बेटी के साथ भी सभी मिलकर हैवानो की तरह रेप किया. और इस रेपकांड में मंदिर की एक दासी ने भी शामिल है जिसने उन दरिंदो की मदद की.


रैप पीड़िता ने बताया कि 2 फरवरी 2017 को मंदिर की दासी नैना देवी ने बेटी को ले जाकर कमरे में बंद कर दिया और भीतर सभी ने उसके साथ दुष्कर्म किया. और माँ बेटी धमकी दी अगर उन्होंने ने किसी से शिकायत की तो उनकी हत्या करके लाश सरयू में फेंक देंगे. और जब दोनों ने अयोध्या कोतवाली में की लेकिन सुनवाई नहीं हुई. और घूसखोर पुलिस अधिकारियों ने रिपोर्ट नहीं दर्ज की.
और जब किसी ने उनकी मदद नहीं की तो उन मां बेटी ने कोर्ट की शरण ली और वंहा अर्जी में मंदिर के साधु सुदामादास, संजयदास, राम कुमारदास, गुलशन शर्मा, रघुवरदास व दासी नैना देवी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई. और ये खबर न्यूज़ टाइम्स ऑफ़ इंडिया और पत्रिका जैसे बड़ी न्यूज़ साइट्स पर भी यह न्यूज़ चुकी लेकिन कोई भी इसके खिलाफ कार्यवाही नहीं कर रहा है.

Loading...

About the author

admin